होम पेज » विज्ञान और विकास

विज्ञान और विकास


तीन अरब हो चुके हैं ऑनलाइन

computer_internet

कम्प्यूटर और इंटरनेट क्रान्ति ने पूरी दुनिया को प्रभावित कर दिया है. तीन अरब लोग ऑनलाइन हो चुके हैं.

सुनिए /

एक टॉयलेट का सवाल कितना बड़ा!

Toilets

सवा अरब लोगों के पास टॉयलेट नहीें हैं. इतनी भारत की आबादी है. भारत की भी आधी आबादी टॉयलेट को तरसती है.

सुनिए /

साफ़-सुथरी हवा के 35 साल

Pollution-emissions

यूरोपीय देशों ने 35 साल पहले हवा को साफ़-सुथरा बनाने का बीड़ा उठाया था. आख़िर कैसे मिली कामयाबी.

सुनिए /

इबोला के लिए नया प्लान

Ebola-recovery

गम्भीर चुनौती बन चुके इबोला वायरस से निपटने के लिए नया प्लान बनाया गया है. दिसम्बर तक लक्ष्य पूरा होगा.

सुनिए /

हो रहा है मलेरिया पर क़ाबू

mosquito-net

मलेरिया की वजह से होने वाली मौतों की संख्या में ख़ासी कमी आई है. कैसे मुमकिन हो सकी है ये कामयाबी.

सुनिए /

विकलांगों को भी मिले टैक्नोलॉजी

disabilities

उनकी दुनिया अधूरी है लेकिन अगर टैक्नोलॉजी का कुछ सहारा मिल जाए तो ख़ालीपन कुछ भर सकता है. बशर्ते कि...

सुनिए /

साफ़ पानी अब भी दूर की कौड़ी

water-sanitation

बहुत से देशों में स्कूलों और अस्पतालों में इतनी गन्दगी रहती है कि वहाँ से गम्भीर और बेक़ाबू बीमारियाँ फैलती हैं.

सुनिए /

घरों से निकलता धुँआ ज़हर समान

State Home for the Elderly

दुनिया भर में क़रीब तीन अरब लोग अब भी घरों में खाना पकाने के लिए ज़हर समान ईंधन का इस्तेमाल करते हैं.

सुनिए /

बुज़ुर्गों की देखभाल एक चुनौती

First Phase Digital

दुनिया भर में क़रीब दो अरब बुज़ुर्गों की देखभाल विकासशील देशों के लिए एक बड़ी चुनौती है. तो राह क्या है.

सुनिए /