होम पेज » मानव अधिकार

मानव अधिकार


इंसानियत को ज़िन्दा रखना होगा

SG HCR

महासचिव का कहना है कि हम सभी को इंसानियत को अपनी तमाम सोच और गतिविधियों के केन्द्र में रखना होगा.

सुनिए /

आमदनी के बीच फ़र्क़ बहुत गम्भीर

OhJoon-ECOSOC

जब लोगों के बीच फ़र्क़ को देखते हैं तो लगता है कि बहुत कुछ ग़लत हो रहा है. इंसानों के बीच दूरियाँ बढ़ रही हैं.

सुनिए /

ज़ुल्म भारी ना पड़ जाए इंसाफ़ पर

UNCHR-KateGilmore

सुरक्षा की दुहाई देकर मानवाधिकारों की अनदेखी इस हद तक ना हो जाए कि ज़ुल्म इंसाफ़ पर भारी पड़ जाए.

सुनिए /

मानवाधिकार सिर्फ़ क़ाग़ज़ी निशान नहीं!

ZEID-Al-Hussain-HR-2

लोगों के बुनियादी अधिकार कोई दिखावटी सामान या क़ाग़ज़ी निशान भर नहीं हैं. गम्भीरता की ज़रूरत.

सुनिए /

इन बेक़सूरों की क़िस्मत क्या हुई?

SG-refugees-Lebanon

दुनिया भर में करोड़ों लोगों को जबरन अपने घरों और देशों से दूर होना पड़ा है. क्यों बने हैं ऐसे अमानवीय हालात.

सुनिए /

आख़िर ऐसी ख़ुराक़ खाएँ ही क्यों?

Diabetes

डायबटीज़ के मरीज़ों की संख्या चार गुना बढ़ गई है. क्या इस चुनौती को कम किया जा सकता है, मगर कैसे?

सुनिए /

भेदभाव, ग़ुलाम प्रथा का नमूना

Slavery_Memorial

आज के दौर में अगर नस्लवाद और कोई भेदभाव होता है तो उसकी ज़ड़ें 200 साल पुरानी दास प्रथा में से निकलती है.

सुनिए /

नौनिहालों पर युद्ध की काली छाया

Iraqchild

दुनिया भर में क़रीब 8 करोड़ 70 लाख बच्चों की दुनिया में युद्ध और हिंसा का अंधेरा छाया हुआ है.

सुनिए /

लड़कियों को छोटी उम्र से ही मिले मौक़ा

High-level forum on ÒInvesting in adolescent girls to achieve the 2030 Agenda for Sustainable DevelopmentÓ

लड़कियों में इतनी क्षमता और योग्यता है कि मौक़ा मिले तो हर क्षेत्र में असीमित योगदान कर सकती हैं.

सुनिए /