26/05/2017

WHO को मिला नया महानिदेशक

सुनिए /

इथियोपिया के डॉक्टर टैड्रोस ऐडरेनॉम ग़ैबरेयेसस विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के नए महानिदेशक निर्वाचित हुए हैं.

आने वाले पाँच साल के दौरान जब भी विश्व स्वास्थ्य संगठन का ज़िक्र होगा, उनका नाम सुर्ख़ियों में रहेगा.

वो डॉक्टर मार्गरेट चैन का स्थान लेंगे जो पाँच-पाँच साल के दो कार्यकाल यानी दस वर्षों तक काम करने के बाद इस पद से रिटायर हो रही हैं.

इथियोपिया में रिवाज़ है कि आमतौर पर लोगों को उनके पहले नाम से पुकारा जाता है इसलिए अब विश्व स्वास्थ्य संगठन के साथ-साथ डॉक्टर टैड्रोस का नाम भी सुनाई देगा.

इस मौक़े पर जिनेवा में पत्रकारों से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन का मक़सद दुनिया भर में सभी को समुचित स्वास्थ्य सेवाएँ मुहैया कराना है.

इसी लक्ष्य के साथ 70 साल पहले इस संगठन की स्थापना हुई थी.

उन्होंने कहा कि पाँच साल के अपने कार्यकाल के दौरान वो इस दिशा में अथक प्रयास करने का इरादा लेकर इस पद पर आए हैं.

साथ ही उन्होंने कहा कि 1948 में विश्व स्वास्थ्य संगठन की स्थापना के साथ सभी को स्वास्थ्य मुहैया कराने का वादा किया गया था लेकिन अफ़सोस की बात है कि 70 साल बाद भी दुनिया की क़रीब आधी आबादी अब भी स्वास्थ्य सेवाओं के लिए तरस रही है.

उन्होंने ख़याल ज़ाहिर किया कि सभी को अब इस मुद्दे पर बातचीत करनी चाहिए कि स्वास्थ्य सेवाओं की उपलब्धता अब सभी का बुनियादी अधिकार बन गया है.

डॉक्टर टैड्रोस ने कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन का एक और मिशन है स्वास्थ्य सेवाओं की आपात स्थिति की देखभाल करना.

इस मौक़े पर उन्होंने निवर्तमान महानिदेशक डॉक्टर मार्गरेट चैन की तारीफ़ करते हुए कहा कि उन्होंने ऐसी व्यवस्था विकसित की है जिसके ज़रिए ईबोला जैसे वायरस की मौजूदगी के बारे में बहुत तेज़ी से पता लगा लिया गया था.

लेकिन उन्होंने अभी और सुधार किए जाने पर भी ज़ोर दिया.

ख़ासतौर से तमाम देशों की सरकारों को अन्तरराष्ट्रीय सहमति से बनाए गए क़ानूनों को लागू करने के लिए और ज़्यादा संजीदगी से काम लेना होगा.

विश्व स्वास्थ्य संगठन के महानिदेशक पद के लिए दो अन्य उम्मीदवार भी मैदान में थे, ब्रिटेन के डेविड नबारो और पाकिस्तान की सानिया निश्तर.

रिपोर्ट प्रस्तुति: महबूब ख़ान

Loading the player ...

कनेक्ट