5/05/2013

अस्पतालों में 'हाथ सफ़ाई' बेहद ज़रूरी

सुनिए /

विश्व स्वास्थ्य संगठन का कहना है कि अस्पतालों में लाखों मरीज़ों को संक्रमण से बचाने के लिए हाथों को साफ़ रखना बेहद ज़रूरी है.

संगठन का कहना है कि अस्पतालों में मरीज़ों की देखभाल करने वाले बहुत से स्वास्थ्य कार्यकर्ता अपने हाथों को स्वच्छ नहीं रखते जिसकी वजह से गन्दगी मरीज़ों तक पहुँच जाती है.

ये बहुत ज़रूरी है कि ये स्वास्थ्य कार्यकर्ता मरीज़ के पास जाने से पहले और उस मरीज़ की ज़रूरत पूरी करने के बाद अपने हाथ ज़रूर धोएँ ताकि संक्रमण को फैलने से रोका जा सके. हर वर्ष पाँच मई को 'विश्व हाथ स्वच्छता दिवस' मनाया जाता है.

विश्व स्वास्थ्य संगठन का कहना है कि मरीज़ों की देखभाल के ज़रिए होने वाले संक्रमण को आसानी से रोका जा सकता है बशर्ते कि स्वास्थ्य कार्यकर्ता अपने हाथों को समुचित रूप में साफ़ रखें.

संगठन का ये भी कहना है कि अस्पतालों में भर्ती मरीज़ों की स्थिति देखी जाए तो विकासशील देशों में हर 100 में से दस मरीज़ स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं के हाथों की गन्दगी से संक्रमण के शिकार होते हैं. अमीर देशों में ये आँकड़ा 100 में सात मरीज़ों का है.

अगर सघन चिकित्सा कक्ष यानी Intensive Care Units की बात करें तो हाथों की गन्दगी से फैले संक्रमण से मरने वालों की संख्या 100 में तीस तक हो जाती है.

विश्व स्वास्थ्य संगठन के मरीज़ सुरक्षा विभाग के डॉक्टर बेनीडेट्टा ऐलेगरान्ज़ी का कहना है कि स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं के गन्दे हाथों के ज़रिए फैलने वाला संक्रमण ज़्यादातर शौच के बाद हाथों की पूरी तरह सफ़ाई नहीं करना, ऑपरेशन वाले स्थानों, न्यूमोनिया और रक्त से सम्बन्धित मामलों से फैलता है.

संक्रमण के इनमें से आधे मामलों को अच्छी तरह से हाथ धोकर स्वच्छता बरतने भर से रोका जा सकता है.

स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को हाथ धोने के लिए या तो रसायन आधारित पदार्थ इस्तेमाल करना चाहिए. या फिर स्वास्थ्य की देखभाल के कुछ महत्वपूर्ण क्षणों के दौरान हाथों को साबुन और पानी से अच्छी तरह से धोते रहना चाहिए. ये महत्वपूर्ण पड़ाव हैं – किसी मरीज़ को छूने से पहले और बाद में, मरीज़ के तरल पदार्थों को छूने के बाद और मरीज़ के आसपास के माहौल को छूने के बाद.

विश्व स्वास्थ्य संगठन का ये भी कहना है कि स्वच्छता के वैश्विक अभियान के तहत 168 देशों में 90 लाख से ज़्यादा स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं ने अपने हाथों की अच्छी तरह साफ़-सफ़ाई रखने का संकल्प लिया है.

इस अभियान को नाम दिया गया है – Save Lives – Clean Your Hands. ये स्वच्छता अभियान वर्ष 2009 से चल रहा है.

Loading the player ...

कनेक्ट