28/02/2014

सीरियाई बच्चों की मदद के लिए पुकार

सुनिए /

हॉलीवुड की मशहूर अभिनेत्री एंजेलीना जोली ने सीरिया में अन्दरूनी लड़ाई से बेघर हुए बच्चों को राहत पहुँचाने के वास्ते तुरन्त सहायता मुहैया कराने की अपील की है.

एंजेलीना जोली ने सीरिया से भागकर लेबनान में पनाह लेने वाले बच्चों के शिविरों का तीन दिन का दौरा करने के बाद ये अपील की.

एंजेलीना जोली संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी एजेंसी की विशेष दूत हैं. उन्होंने अनेक अनाथ सीरियाई बच्चों से भी मुलाक़ात की जो लेबनान की बेका घाटी में रह रहे हैं.

ऐसा अनुमान है कि सीरिया में गृहयुद्ध की वजह से क़रीब साढ़े तीन हज़ार बच्चे अपने परिवारों से बिछड़ गए हैं और वो लेबनान में पनाह लेने को मजबूर हुए हैं.

इस बीच संयुक्त राष्ट्र की विभिन्न एजेंसियों के एक अध्ययन में कहा गया है कि लेबनान में रहने वाले सीरियाई लोगों, ख़ासतौर पर बच्चों में कुपोषण का ख़तरा बढ़ गया है क्योंकि उन्हें भरपेट भोजन और अन्य ज़रूरी चीज़ें नहीं मिल पा रही हैं.

संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी एजेंसी ने एक वक्तव्य जारी करके कहा है कि एंजेलीना जोली ने सीरिया में मानवीय सहायता के लिए संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद द्वारा पारित प्रस्ताव संख्या 2139 का स्वागत किया है.

22 फ़रवरी को मंज़ूर किए गए संयुक्त राष्ट्र के इस प्रस्ताव में माँग की गई है कि सीरिया में सहायता पहुँचाने के वास्ते सीमाएँ खोली जाएँ.

अगर सहायता सामग्री पहुँचाने में कोई बाधा पहुँचाई गई तो सुरक्षा परिषद ने सख़्त क़दम उठाने की चेतावनी भी दी है.

एंजेलीना जोली ने इस प्रस्ताव को लाखों की संख्या में प्रभावित हुए सीरियाई लोगों, बच्चों और महिलाओं की मदद के लिए सही दिशा में उठाया गया एक क़दम क़रार दिया है.

एंजेलीना जोली ने ज़ोर देकर कहा कि इस प्रस्ताव को सिर्फ़ एक दस्तावेज़ ना रहने दिया जाए बल्कि असल में सीरियाई लोगों तक मदद पहुँचाई जाए.

एंजेलीना जोली संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी परिषद की तरफ़ से पहले भी दो बार लेबनान की यात्रा कर चुकी हैं.

एंजेलीना जोली ने पिछली बार सितम्बर 2012 में लेबनान का दौरा किया था.

यूनीसेफ़, यूएनएचसीआर और विश्व खाद्य कार्यक्रम ने पिछले वर्ष अक्तूबर और नवम्बर में सीरियाई शरणार्थियों के स्वास्थ्य का सर्वेक्षण कराया था.

संयुक्त राष्ट्र के अनुमान के अनुसार लेबनान में वर्ष 2014 के अन्त तक लगभग साढ़े सोलह लाख शरणार्थी हो जाएंगे जिनमें सीरियाई शरणार्थी, सीरिया से वापिस आने वाले लेबनानी और फ़लस्तीनी लोग शामिल होंगे.

Loading the player ...

कनेक्ट