28/02/2014

अरब दुनिया के एकीकरण का प्रस्ताव

सुनिए /

संयुक्त राष्ट्र की एक ताज़ा रिपोर्ट में कहा गया है कि अरब देश अगर एक साझा सामाजिक, राजनैतिक और आर्थिक रास्ते पर चलें तो सभी देशों और लोगों को बहुत बड़ा फ़ायदा हो सकता है.

पश्चिमी एशिया के लिए संयुक्त राष्ट्र के आर्थिक और सामाजिक आयोग यानी ESCWA की इस रिपोर्ट में अरब देशों के एकीकरण का ख़ाका प्रस्तावित किया गया है जिसमें इस तरह के एकीकरण को वक़्त की ज़रूरत बताया गया है.

रिपोर्ट में ये भी कहा गया है कि अरब दुनिया अगर अच्छी रफ़्तार के साथ विकास करना चाहती है तो ये एकीकरण बहुत ज़रूरी है.

इस रिपोर्ट के लेखकों में से एक अब्दुल्लाह अल दरदरी इस आयोग के प्रमुख अर्थशास्त्री हैं. अब्दुल्लाह अल दरदरी का कहना है कि अरब देशों के एकीकरण यानी एक दूसरे में घुलने मिलने के विचार का आकलन किया जा सकता है.

उनका कहना था, “हमने एक रणनीति का प्रस्ताव सामने रखा है. इसके साथ-साथ हमने ऐसे क़दम उठाने का भी प्रस्ताव रखा है जिन्हें मौजूदा राजनैतिक माहौल और ढाँचों में आहिस्ता-आहिस्ता उठाया जा सकता है और उन पर अमल किया जा सकता है जिससे अरब देशों के एकीकरण का रास्ता निकल सकता है.”

अब्दुल्लाह अल दरदरी का कहना था कि अरब देशों के बीच ज़्यादा आर्थिक घनिष्ठता बढ़ाने के लिए शुरूआती क़दमों के रूप में देशों के बीच यातायात को सस्ता बनाया जा सकता है.

साथ ही कामकाज और रोज़गार पर लगी पाबन्दियों को आसान बनाया जा सकता है और व्यापार पर लगे भारी भरकम शुल्कों और प्रतिबन्धों को आसान किया जा सकता है.

Loading the player ...

कनेक्ट