21/02/2014

बर्ड फ़्लू पर फिक्रमन्द ना हों

सुनिए /

संयुक्त राष्ट्र के खाद्य और कृषि संगठन यानी FAO ने कहा है कि बर्ड फ़्लू से संक्रमित व्यक्ति से ये बीमारी किसी अन्य व्यक्ति या पशु पक्षियों में फैलने के कोई सबूत नहीं हैं.

संगठन ने कहा है कि इस बात को लेकर कुछ लोगों में चिन्ता है कि बर्ड फ्लू का विषाणु H7N9 संक्रमित व्यक्ति से अन्य व्यक्तियों या पशु पक्षियों में भी फैल सकता है.

संगठन ने इस तरह की चिन्ता को बिल्कुल निराधार बताया है.

बर्ड फ्लू का संक्रमण इंसान में फैलने का चीन के बाहर पहला मामला हाल ही में मलेशिया में पाया गया था जिसके बाद एफ़ ए ओ ने ये स्पष्टीकरण जारी किया है.

संगठन ने कहा है कि दरअसल ये व्यक्ति चीन में ही संक्रमित हुआ था जो मलेशिया घूमने-फिरने आया था.

संक्रमण का पता लगने के बाद इस मरीज़ को मलेशिया में ही अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

संगठन का ये भी कहना है कि ये मरीज़ चीन के गुआंगडोंग प्रान्त से सम्बन्ध रखता है और ये प्रान्त चीन में सबसे ज़्यादा बर्ड फ्लू के वायरस यानी H7N9 से संक्रमित इलाक़ों में से एक है.

खाद्य और कृषि संगठन के मुख्य चिकित्सा अधिकारी युआन लुबरोथ का कहना है कि बर्ड फ्लू के वायरस से संक्रमण का ये मामले देखकर कोई हैरानी नहीं हुई है और इसे लेकर कोई चिन्ता की बात नहीं है.

हालाँकि उन्होंने ये भी कहा कि इस मामले में पूरी सतर्कता बरती जाएगी.

डॉक्टर युआन लुबरोथ ने कहा कि जो लोग बर्ड फ्लू के इस वायरस से संक्रमित हो गए हैं उनसे पशु-पक्षियों, ख़ासतौर पर मुर्गे-मुर्ग़ियों के लिए कोई ख़तरा नहीं है.

Loading the player ...

कनेक्ट