31/01/2014

अफ़ग़ानिस्तान में विकास का मौक़ा

सुनिए /

अफ़ग़ानिस्तान में संयुक्त राष्ट्र मिशन के मुखिया यैन क्यूबिस ने कहा है कि देश में अनेक वर्षों की अस्थिरता के बाद अब फिर से शान्ति क़ायम करने और विकास के लिए सामान्य एजेंडा पर चलने का मौक़ा मिल रहा है.

यैन क्यूबिस ने बुधवार को एक बैठक में कहा कि अफ़ग़ान लोगों के जीवन में नाटकीय बदलाव और सुधार देखा गया है.

उनका कहना था कि अफ़ग़ानिस्तान में पिछले कुछ वर्षों में ख़ासतौर से शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्रों के बुनियादी ढाँचे में ख़ासा सुधार हुआ है.

यैन क्यूबिस ने कहा कि अफ़ग़ानिस्तान में पिछले एक दशक के दौरान हुई लड़ाई, हिंसा, अस्थिरता और अन्तरराष्ट्रीय हस्तक्षेप की वजह से अर्थव्यवस्था को बड़ा नुक़सान हुआ है लेकिन अब अफ़ग़ानिस्तान और अफ़ग़ान लोगों के लिए एक बार फिर से विकास एजेंडा पर काम करने का मौक़ा मिल रहा है.

हालाँकि अफ़ग़ानिस्तान में संयुक्त राष्ट्र दूत यैन क्यूबिक ने ये भी ध्यान दिलाया कि देश में सरकारी ख़ज़ाने को उम्मीद से बहुत कम धन हासिल हो रहा है जिससे सरकारी ख़र्च चलाने में मुश्किलें आ रही हैं.

साथ ही सुरक्षा इन्तज़ाम पर भारी रक़म ख़र्च हो रही है और रोज़मर्रा के जीवन में काम आने वाली या ज़रूरत वाली चीज़ों के दाम भी आसमान छू रहे हैं.

यैन क्यूबिस ने ज़ोर देकर कहा कि इन तमाम चुनौतियों के बावजूद संयुक्त राष्ट्र सहित पूरा अन्तरराष्ट्रीय समुदाय अफ़ग़ानिस्तान को दीर्घकालीन सहायता और समर्थन देने के लिए संकल्पबद्ध है.

ग़ौरतलब है कि अफ़ग़ानिस्तान में तैनात नैटो के नेतृत्व वाली सेनाएँ वर्ष 2014 के अन्त तक देश छोड़कर चली जाएंगी.

Loading the player ...

कनेक्ट