17/01/2014

जलवायु परिवर्तन पर नीति चाहिए

सुनिए /

संयुक्त राष्ट्र की एक वरिष्ठ पर्यावरण पदाधिकारी ने कहा है कि जलवायु परिवर्तन के मुद्दे को राष्ट्रीय और अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर उठाने के लिए एक समग्र नीति की सख़्त ज़रूरत है.

जलवायु परिवर्तन मुद्दे पर संयुक्त राष्ट्र फ्रेमवर्क कन्वेंशन यानी UNFCCC की कार्यकारी सचिव क्रिस्टीना फ़िगरेस ने बुधवार को पत्रकारों से बातचीत में ये कहा.

क्रिस्टीना ने दुनिया भर से आए क़रीब 500 वित्तीय प्रतिनिधियों को सम्बोधित किया जो न्यूयॉर्क में जलवायु परिवर्तन मुद्दे पर हुए सम्मेलन में हिस्सा लेने आए थे.

क्रिस्टीना फ़िगरेस का कहना था, “देशों और अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर जलवायु परिवर्तन के मुद्दे का सामना करने के लिए संयुक्त राष्ट्र की एक स्पष्ट नीति अब सख़्त ज़रूरत बन चुकी है. ये इसलिए ज़रूरी है क्योंकि जलवायु परिवर्तन का प्रभाव बहुत जटिल होता जा रहा है. और जैसाकि हम सब देख रहे हैं ये चुनौती तेज़ रफ़्तार से बढ़ती ही जा रही है.”

“देशों की सरकारों ने फ़ैसला किया है कि अन्तिम लक्ष्य है कि पृथ्वी के तापमान में दो डिग्री सेल्सियस से ज़्यादा वृद्धि नहीं होने दी जाएगी. और इसके लिए देशों ने अगले साल यानी 2015 की समय सीमा रखी है और ये बहुत दूर नहीं है.”

संयुक्त राष्ट्र की जलवायु परिवर्तन पदाधिकारी क्रिस्टीना फ़िगरेस ने निवेशकों से कहा कि वे कम्पनियों से साफ़ शब्दों में कह दें कि वो जलवायु परिवर्तन से सम्बन्धित नीति पर कोई नकारात्मक प्रभाव डालने के लिए धनराशि का इस्तेमाल ना करें.

Loading the player ...

कनेक्ट