20/12/2013

2013 की आर्थिक समीक्षा और 2014 की संभावनाएँ

सुनिए /

विश्व अर्थव्यवस्था में अगले दो वर्षों के दौरान विकास जारी रहने की संभावना जताई गई है.

लेकिन साथ ही बैंकिंग व्यवस्था को टिकाऊ बनाए रखने के लिए अन्तरराष्ट्रीय नीतियों में ज़्यादा सटीक तालमेल की ज़रूरत पर ज़ोर दिया गया है क्योंकि क्षेत्रीय संघर्षों और अस्थिरता की वजह से अन्तरराष्ट्रीय वित्तीय स्थिरता पर नकारात्मक असर पड़ सकता है.

बुधवार को जारी की गई विश्व आर्थिक स्थिति और सम्भावनाएँ 2014 (WESP) नामक रिपोर्ट जारी की गई जिसमें ये अनुमान व्यक्त किया गया है.

इस रिपोर्ट को संयुक्त राष्ट्र के आर्थिक विकास और सामाजिक मामलों के विभाग व संयुक्त राष्ट्र व्यापार और विकास सम्मेलन (UNCTAD) ने मिलकर तैयार किया है.

अंकटाड में विश्व आर्थिक निगरानी यूनिट के मुखिया पिंगफैन हाँग का कहना था, “विश्व की अर्थव्यवस्था में एक और वर्ष मन्दी के साथ ही गुज़रा यानी वर्ष 2013 में कोई ख़ास प्रगति नहीं देखी गई. यहाँ तक कि वर्ष 2013 के लिए जो आर्थिक सम्भावनाएँ व्यक्त की गई थीं वो भी पूरी नहीं हो पाईं. इसके बावजूद हमारा मानना है कि अगले वर्ष के लिए कुछ सम्भावनाएँ तेज़ी पकड़ रही हैं.”

“हम उम्मीद करते हैं कि वर्ष 2014 में विश्व अर्थव्यवस्था 3 प्रतिशत की दर से बढ़ेगी. जबकि वर्ष 2013 के लिए 2.1 प्रतिशत की दर से वृद्धि का अनुमान व्यक्त किया गया था.”

रिपोर्ट कहती है कि अमरीका में आर्थिक क़िल्लत और बजटीय मुद्दों पर राजनीतिक उतार-चढ़ावों की वजह से विकास दर प्रभावित हुई है लेकिन वर्ष 2014 में वहाँ भी ढाई प्रतिशत विकास दर रहने की उम्मीद है.

Loading the player ...

कनेक्ट