22/11/2013

सीरिया में लड़ाई से घबराकर हज़ारों लोगों का लेबनान पलायन

सुनिए /

संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी एजेंसी यूएनएचसीआर ने कहा है कि सीरिया के क़राह शहर में लड़ाई और हिंसा से बचने के लिए क़रीब छह हज़ार लोग पड़ोसी देश लेबनान पहुँच गए हैं.

एजेंसी का कहना है कि बड़ी संख्या में इन लोगों के लेबनान पहुँचने से पैदा हुई चुनौती का सामना करने के लिए मानवीय सहायता कर्मी गत शुक्रवार से ही लेबनान में मौजूद हैं और लेबनान के सामाजिक मामलों के मंत्रालय और अधिकारियों के साथ मिलकर काम कर रहे हैं.

यूएनएचसीआर के प्रवक्ता एड्रियन एडवर्ड्स का कहना था कि शरणार्थियों ने बताया है कि अपने घर छोड़कर भागने का फ़ैसला करने से पहले उन्होंने अनेक रातें ज़मीन के नीचे बनाई गईं पनाहगाहों में गुज़ारीं.

प्रवक्ता एड्रियन एडवर्ड्स का कहना था कि चूँकि हालात बहुत ख़राब हो चुके हैं इसलिए क़रीब दस लोगों के एक परिवार ने एक ही कार में ठसाठस भर कर वहाँ से भागने का फ़ैसला किया.

सीरिया से लेबनान पहुँचे इन शरणार्थियों को पूर्वोत्तर हिस्से अरसल में रखा गया है.

अरसल सीरिया से मिलने वाली सीमा के निकट ही है जहाँ क़रीब साठ हज़ार की आबादी रहती है. वहाँ पहले ही क़रीब बीस हज़ार शरणार्थी रह रहे हैं.

क़रीब दस परिवारों को पास के गाँवों में रखा गया है.

प्रवक्ता एड्रियन एडवर्ड्स ने कहा कि यूएनएचसीआर और सहयोगी संस्थाओं ने इस तरह अचानक पहुँचने वाले शरणार्थियों की मदद के लिए आपात योजना बनाकर रखी है क्योंकि सीरिया से बड़ी संख्या में और लोगों के लेबनान पहुँचने की सम्भावना है.

Loading the player ...

कनेक्ट