11/10/2013

बाल मज़दूरी ख़ात्मे के लिए अभियान

सुनिए /

अन्तरराष्ट्रीय श्रम संगठन यानी आई एल ओ ने दुनिया भर में बाल मज़दूरी समाप्त करने के लिए एक विश्व व्यापी अभियान शुरू किया है और ये शुरूआत ब्राज़ील से की गई है.

गायिका और अभिनेत्री चेर

गायिका और अभिनेत्री चेर ने भी अभियान को समर्थन दिया है

इस अभियान को Red Card to Child Labour नाम दिया गया है. ग़ौरतलब है कि फुटबॉल में नियम तोड़ने वाले खिलाड़ी को मैदान से बाहर निकालने के लिए लाल कार्ड दिखाया जाता है, इस अभियान का नाम उसी की तर्ज़ पर रखा गया है.

ये अभियान ब्राज़ीलिया में बाल मज़दूरी पर हुए विश्व सम्मेलन के अन्तिम दिन गुरूवार को शुरू किया गया. इस अभियान को विश्व प्रसिद्ध कलाकारों का समर्थन हासिल है जिनमें प्रसिद्ध अभिनेत्री और गायिका शेर भी एक हैं.

आई एल ओ ने पहला रेड कार्ड अभियान वर्ष 2002 में शुरू किया था जिसका उद्देश्य लोगों को बाल मज़दूरी के नुक़सानों के बारे में जागरूक बनाना था.

उसके आठ वर्ष बाद यानी वर्ष 2010 में बाल मज़दूरी पर दूसरा विश्व सम्मेलन हेग में हुआ था जिसमें बच्चों को मज़दूरी के सबसे ज़्यादा ख़तरनाक तरीक़ों से वर्ष 2016 तक छुटकारा दिलाने का लक्ष्य रखा गया था.

आई एल ओ के प्रमुख गुई राइडर का कहना था कि लाल कार्ड एक ऐसा प्रतीक चिन्ह या निशान है जिसे दुनिया भर में आसानी से पहचाना और समझा जाता है.

लाल निशान से निकलने वाली चेतावनी के ज़रिए समझा जाता है कि कुछ ना कुछ ग़लत है जिसे तुरन्त रोका जाना चाहिए.

यही हमारा लक्ष्य बाल मज़दूरी समाप्त करने के बारे में है.

दुनिया भर में बाल मज़दूरों की लगभग आधी संख्या बेहद ख़तरनाक क्षेत्रों में काम करती है जिनमें खेतों, खदानों और फैक्टरियों में काम करना शामिल है जहाँ उनका शोषण होता है और जान को भी लगातार ख़तरा बना रहता है.

कुछ बच्चों का तो यौन शोषण भी होता है और बहुत से बच्चों को नशीले पदार्थों की तस्करी के लिए इस्तेमाल किया जाता है.

इतना ही नहीं, कुछ बच्चों को ज़बरदस्ती सेना या लड़ाकू गुटों में शामिल होने के लिए मजबूर किया जाता है.

ये तसल्ली की बात है कि दुनिया भर में पिछले दशक में बाल मज़दूरों की संख्या में एक तिहाई कमी आई है जो कम होकर क़रीब साढ़े 16 करोड़ रह गई है.

हालाँकि इसे अपेक्षित प्रगति नहीं कहा जा रहा है.

बाल मज़दूरी पर हुए इस तीसरे सम्मेलन में 152 देशों के प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया और लक्ष्य प्राप्ति के लिए अपने संकल्प को दोहराया है जिससे बच्चों को बाल मज़दूरी से छुटकारा दिलाने के प्रयासों में तेज़ी आने की उम्मीद जताई गई है.

Loading the player ...

कनेक्ट