27/09/2013

परमाणु निरस्त्रीकरण से अन्तरराष्ट्रीय शान्ति और सुरक्षा मज़बूत होगी

सुनिए /

संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून ने कहा है कि दुनिया को अगर परमाणु हथियारों मुक्त करने में कामयाबी मिल जाती है तो उससे अन्तरराष्ट्रीय शान्ति और सुरक्षा को मज़बूती मिलेगी.

महासचिव ने गुरूवार को परमाणु निरस्त्रीकरण पर एक उच्च स्तरीय बैठक में ये बात कही.

उन्होंने कहा कि परमाणु निरस्त्रीकरण से ऐसे बहुत से संसाधन उपलब्ध हो जाएंगे जिनकी ज़रूरत सामाजिक और आर्थिक विकास के लिए है.

इन संसाधनों से क़ानून का शासन क्रिन्यान्वयन सुनिश्चित करने और पर्यावरण को ख़राब होने से बचाने में भी मदद मिल सकती है.

इसके अलावा अगर परमाणु निरस्त्रीकरण किया जाता है तो परमाणु सामग्री को आतंकवादियों या अतिवादी गुटों के हाथों में पड़ने से भी रोका जा सकता है.

महासचिव बान की मून का कहना था, "परमाणु निरस्त्रीकरण के क्षेत्र में कुछ प्रगति तो हुई है. परमाणु हथियारों की सामग्री के घोषित भंडार दशकों से यूँ ही पड़े हुए हैं. कुछ परमाणु हथियार सम्पन्न देशों ने परीक्षण स्थल बन्द कर दिए हैं. कुछ ने कुछ ख़ास क़िस्म के परमाणु हथियार नष्ट कर दिए हैं और नए परमाणु हथियार बनाना भी बन्द कर दिए हैं."

"अनेक देशों ने परमाणु हथियारों के भंडारण की चौकसी बढ़ा दी है. परमाणु अप्रसार सन्धि की समीक्षा पर जो सम्मेलन हुआ था, उसके बाद परमाणु निरस्त्रीकरण के लिए संकल्पबद्धता ताज़ा हुई है. हालाँकि अभी इन वादों पर अमल होना है और इस क्षेत्र में अभी बहुत किया जाना बाक़ी है."

महासचिव बान की मून ने आगाह करते हुए ये भी कहा कि परमाणु हथियारों के भंडारण, उन्हें एक स्थान से दूसरे स्थान लाने-ले जाने की व्यवस्था कमज़ोर और एकरूप नहीं है. उन्होंने कहा कि परमाणु हथियारों से सम्पन्न देशों को अपने प्रयास तेज़ करने होंगे.

Loading the player ...

कनेक्ट