20/09/2013

महासभा का 68वाँ सम्मेलन

सुनिए /

संयुक्त राष्ट्र महासभा का 68वां सम्मेलन न्यूयॉर्क में मंगलवार को शुरू हुआ है.

इस सम्मेलन के दौरान महासभा के अध्यक्ष जॉन ऐशे हैं जो एंटीगुआ और बारबुडा के दूत भी हैं.

उन्होंने कहा कि वर्ष 2015 से आगे के विकास एजेंडा पर अन्क गतिविधियाँ आयोजित की जाएंगी जिनमें विचार गोष्ठियाँ शामिल होंगी.

जॉन ऐशे ने कहा कि वर्ष 2015 से आगे का विकास एजेंडा तैयार करने के दौरान महिलाओं, युवाओं और सिविल सोसायटी की भूमिका पर भी ग़ौर किया जाएगा.

इसके अलावा मानवाधिकारों की भूमिका और विकासशील देशों के बीच सहयोग भी प्रमुख मुद्दा रहेगा.

जॉन ऐशे का कहना था किसी भी विकास एजेंडा में महिलाओं और युवाओं की बहुत अहम भूमिका होती है, "बहुत साफ़ सी बात है कि कि महिलाओं और युवाओं के सामने दरपेस चुनौतियों का सामना किए बिना हम कोई विकास लक्ष्य हासिल नहीं कर सकते हैं. साथ ही महिलाओं और युवाओं के योगदान का भी भरपूर फ़ायदा उठाए जाने की ज़रूरत है."

"हमें ये भी याद रखना होगा कि तमाम देशों की सरकारें किसी भी विकास एजेंडा में शामिल किए गए विकास लक्ष्यों को अकेले हासिल नहीं कर सकतीं, इसके लिए उन्हें अन्य देशों की सरकारों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलना होगा."

महासभा के अध्यक्ष जॉन ऐशे ने तमाम देशों के राजदूतों का आहवान किया कि वो ये पता लगाने की कोशिश करें कि संयुक्त राष्ट्र विकास एजेंडा के लक्ष्य हासिल करने के लिए सिविल सोसायटी के साथ किस तरह से साझेदारी बढ़ाई जा सकती है.

ग़ौरतलब है कि महासभा के क़रीब एक पखवाड़ा चलने वाले इस सम्मेलन के दौरान विभिन्न देशों के नेता न्यूयॉर्क में इकट्ठा होंगे और विभिन्न मुद्दों पर चर्चा करेंगे.

130 देशों के राष्ट्राध्यक्ष या सरकारों के अध्यक्ष और 60 से ज़्यादा विदेश मंत्रियों के इस सम्मेलन में पहुँचने की सम्भावना है.

Loading the player ...

कनेक्ट