13/09/2013

सीरिया संकट के हल के लिए हलचल

सुनिए /

संयुक्त राष्ट्र, अमरीका और रूस ने सीरिया संकट के कूटनीतिक समाधान के लिए प्रयास तेज़ कर दिए हैं.

अमरीका, रूस और संयुक्त राष्ट्र के वरिष्ठ राजनयिकों ने शुक्रवार को जिनेवा में इस मुद्दे पर गहन बातचीत की कि सीरिया में ढाई वर्षों से जारी भीषण संकट का हल कैसे निकाला जाए.

21 अगस्त को सीरिया की राजधानी दमिश्क के बाहरी इलाक़ों में रसायनिक हथियारों के इस्तेमाल के आरोपों के बाद तनाव बढ़ गया था और ये ताज़ा बैठक इसी पृष्ठभूमि में हुई है.

उस घटना में 1400 लोगों की मौत होने की ख़बरें आई थीं जिनमें 400 से ज़्यादा बच्चे भी थे.

सीरियाई अधिकारियों ने संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून को पत्र लिखकर सूचित किया है कि उनके देश ने उस संधि को स्वीकार कर लिया है जिसके तहत रसायनिक हथियारों का उत्पादन या निर्माण, भंडार और इस्तेमाल प्रतिबन्धित है.

इस बीच संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून ने सीरिया के इस फ़ैसले का स्वागत किया है.

महासचिव के प्रवक्ता ने गुरूवार को जारी एक वक्तव्य में कहा कि सीरिया से प्राप्त हुए इस पत्र में कहा गया है कि राष्ट्रपति बशर अल असद ने परमाणु हथियारों के निर्माण, उत्पादन और इस्तेमाल पर पाबंदी लगाने वाली संधि का मंज़ूरी देने वाले आदेश पर हस्ताक्षर कर दिए हैं.

साथ ही सीरियाई अधिकारियों ने ये संकल्प भी दोहराया है कि उनका देश 1992 में वजूद में आई इस संधि पर हस्ताक्षर करने से पहले ही अपनी ज़िम्मेदारियाँ निभाता रहा है.