6/09/2013

पहला अन्तरराष्ट्रीय दान दिवस

सुनिए /

संयुक्त राष्ट्र ने पहला अन्तरराष्ट्रीय दान दिवस बीते सप्ताह गुरूवार को मनाया. इत्तेफ़ाक से इसी दिन मदर टेरेसा की मौत की बर्सी भी बनाई गई.

अन्तरराष्ट्रीय दान दिवस के अवसर पर अपने सन्देश में संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून ने कहा कि दान की भावना से संयुक्त राष्ट्र के मूल्यों और कामकाज आगे बढ़ाने में बहुत मदद मिलती है.

बान की मून ने दुनिया भर के लोगों से आग्रह किया कि वो चाहे किसी भी उम्र और हालात में जी रहे हों, दान की भावना को ज़रूर पनपने और फलने-फूलने दें क्योंकि दूसरों की मदद करने की चाह हर इंसान के भीतर कुदरती जज़्बे के रूप में मौजूद रहती है.

ग़रीबी उन्मूलन के लिए सक्रिय विश्व संगठन – Global Poverty Project के मुख्य कार्यकारी अधिकारी यानी सीईओ ह्यू ईवान्स ने अन्तरराष्ट्रीय दान दिवस के अवसर पर अपने विचार कुछ यूँ रखे, "करोड़ों –अरबों लोगों के जीवन में सुधार लाने और ठोस बदलाव लाने में आम लोग और ऐसे ग़ैर सरकारी संगठन बहुत बड़ी भूमिका निभा सकते हैं और निभा रहे हैं जो सिर्फ़ अपने फ़ायदे की इच्छा से ऊपर उठकर काम करते हैं."

"दान और मदद की भावना से इस पीढ़ी के सामाजिक, राजनीतिक और अन्य मुद्दों को हल करने की दिशा में ठोस काम किया जा सकता है. अगर आप नज़र उठाकर देखें तो CARE, UNICEF, World Vision, OXFAM जैसे संगठन जी तोड़ काम कर रहे हैं. बेशक इनके काम ने ज़मीनी स्तर पर असल बदलाव लाकर दिखाया है."

"उन्होंने ये भी कहा कि दान और सहायता क्षेत्र में सक्रिय तमाम संगठनों, कारोबारों और लोगों से अपील की जा रही है कि वो दुनिया के ग़रीब लोगों के जीवन में असल और टिकाऊ सुधार लाने के लिए जी-जान से प्रयास करें तो इस विश्व को एक बेहतर जगह बनाने में ज़्यादा मुश्किल नहीं होगी."