23/08/2013

सीरिया संकट से विश्व शान्ति को ख़तरा

सुनिए /

सीरिया के लिए संयुक्त राष्ट्र और अरब लीग के विशेष प्रतिनिधि डॉक्टर लख़दर ब्राहमी ने राजधानी दमिश्क में रसायनिक हथियारों के कथित इस्तेमाल पर गहरी चिन्ता जताई है.

लख़दर ब्राहमी ने कहा है कि इस घटना से साफ़ झलकता है कि सीरिया में मौजूदा संकट से सिर्फ़ उस देश के नागरिकों के लिए ही नहीं है बल्कि उस क्षेत्र और पूरी दुनिया की शान्ति के लिए एक ख़तरा बन चुका है.

जिनेवा में लख़दर ब्राहमी ने कहा कि सम्बद्ध पक्षों द्वारा सीरिया संकट का सैनिक हल निकालने पर ज़्यादा ज़ोर दिए जाने से स्थिति और बिगड़ रही है, जबकि सीरिया के मौजूदा संकट का कोई हल सिर्फ़ राजनीतिक बातचीत के ज़रिए ही निकाला जा सकता है.

लख़दर ब्राहमी का कहना था, "समस्या ये है कि सीरिया की अन्दरूनी लड़ाई और संकट में शामिल सभी पक्षों को लगता है कि इस सैनिक लड़ाई में उनकी ही जीत हो जाएगी. जबकि हमारा, संयुक्त राष्ट्र महासचिव और अनेक अन्य नेताओं का मानना है कि सीरिया संकट का कोई सैनिक हल नहीं निकाला जा सकता क्योंकि किसी एक पक्ष की कोई निश्चित जीत नहीं होने वाली है."

"इस संकट का हल सिर्फ़ राजनैतिक तौर पर ही निकाला जा सकता है. जितनी जल्दी राजनीतिक हल निकाला जाता है, सीरिया और पूरी दुनिया के लिए उतना ही बेहतर है."

उन्होंने कहा कि "इसमें कोई शक नहीं है कि सीरिया संकट पूरी दुनिया की शान्ति और सुरक्षा के लिए गम्भीर ख़तरा बन चुका है. पिछले दो वर्षों से जारी जानमाल की भारी तबाही से लोगों में भारी ग़ुस्सा है और अब ये समस्या सीरिया से भी बाहर निकल चुकी है क्योंकि लाखों सीरियाई लोगों को पड़ोसी देशों में पनाह लेनी पड़ी है."

सीरिया के लिए संयुक्त राष्ट्र और अरब लीग के विशेष प्रतिनिधि लख़दर ब्राहमी ने कहा कि सीरिया संकट के राजनीतिक समाधान के लिए रोड मैप पिछले वर्ष जिनेवा में हुए विशेष सम्मेलन में ही पेश कर दिया गया था.

संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून ने भी सीरिया में रसायनिक हथियारों के कथित इस्तेमाल पर गम्भीर चिन्ता जताई है.