16/08/2013

मिस्र में हिंसा रोकने की अपील

सुनिए /

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने मिस्र में हिंसा तुरन्त रोकने की अपील की है.

ग़ौरतलब है कि इस सप्ताह मिस्र में सेना और सुरक्षा बलों ने मुस्लिम ब्रदरहुड के समर्थक प्रदर्शनकारियों पर गोलियाँ चलाई हैं जिसमें 600 से ज़्यादा लोगों की मौत हो गई, जबकि मुस्लिम ब्रदरहुड का कहना है मारे गए लोगों की संख्या 2000 से भी ज़्यादा है.

सुरक्षा परिषद ने बुधवार को मिस्र में हुई इस हिंसा के बाद के हालात पर विचार करने के लिए गुरूवार को एक गोपनीय बैठक आयोजित की.

इस बैठक में संयुक्त राष्ट्र के उप महासचिव यान एलिसन ने सदस्य देशों को ताज़ा स्थिति से अवगत कराया.

अगस्त महीने के लिए सुरक्षा परिषद की अध्यक्ष और अर्जेंटीना की राजदूत मारिया क्रिस्टीना परसीवल ने सुरक्षा परिषद की इस बैठक में हुए विचार विमर्श की जानकारी पत्रकारों को दी, "सुरक्षा परिषद के सदस्यों ने सबसे पहले तो हिंसा के शिकार हुए लोगों के साथ हमदर्दी का इज़हार किया और इस हिंसा में जानमाल के नुक़सान पर गहरा शोक व्यक्त करते हुए मृतकों को श्रद्धांजलि अर्पित की."

"सुरक्षा परिषद के सदस्यों की राय है कि ये बहुत ज़रूरी और महत्वपूर्ण है कि मिस्र में हिंसा तुरन्त रोकी जाए. साथ ही तमाम पक्षों को ज़्यादा से ज़्यादा संयम और धैर्य से काम लेना होगा."

उन्होंने कहा कि हिंसा रोकने के लिए आम सहमति नज़र आने के साथ-साथ राष्ट्रीय स्तर पर सुलह-सफ़ाई का माहौल बनाने के लिए प्रयास शुरू करने पर भी एक राय थी.

साथ ही, संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून, अन्य तमाम अधिकारियों और मानवाधिकार विशेषज्ञों ने मिस्र में हिंसक स्थिति पर गहरी चिन्ता व्यक्त की है.