यूक्रेन मुद्दे पर दुनिया शीत युद्ध जैसे गुटों में बँटी हुई नज़र आ रही है. कहीं राख के ढेर में चिंगारी तो नहीं छुपी है.
21/11/2014 / सुनिए /

सेरेब्रेनीत्सा नरसंहार के मुल्ज़िम पर सवाल और चिन्ताएँ

humanrightscouncil
1995 में सेरेब्रेनीत्सा में आठ हज़ार निहत्थे मुसलमानों के क़त्ले के मुल्ज़िम की सज़ा पर उठे सवाल और चिन्ताएँ.
21/11/2014 / सुनिए /

साफ़-सुथरी हवा के 35 साल

Pollution-emissions
यूरोपीय देशों ने 35 साल पहले हवा को साफ़-सुथरा बनाने का बीड़ा उठाया था. आख़िर कैसे मिली कामयाबी.
14/11/2014 / सुनिए /

साफ़ पानी अब भी दूर की कौड़ी

water-sanitation
बहुत से देशों में स्कूलों और अस्पतालों में इतनी गन्दगी रहती है कि वहाँ से गम्भीर और बेक़ाबू बीमारियाँ फैलती हैं.
21/11/2014 / सुनिए /

एक टॉयलेट का सवाल कितना बड़ा!

Toilets
सवा अरब लोगों के पास टॉयलेट नहीें हैं. इतनी भारत की आबादी है. भारत की भी आधी आबादी टॉयलेट को तरसती है.
21/11/2014 / सुनिए /

घरों से निकलता धुँआ ज़हर समान

State Home for the Elderly
दुनिया भर में क़रीब तीन अरब लोग अब भी घरों में खाना पकाने के लिए ज़हर समान ईंधन का इस्तेमाल करते हैं.
14/11/2014 / सुनिए /

अफ़ग़ान अफ़ीम का बढ़ता दायरा

opium-poppy
तमाम कोशिशों के बावजूद अफ़ग़ानिस्तान में अफ़ीम की खेती और पैदावार लगातार बढ़ रही है. तो चिन्ता क्या है!
14/11/2014 / सुनिए /
परिक्रमा 21 नवम्बर 2014
परिक्रमा 21 नवम्बर 2014
साप्ताहिक समाचार बुलेटिन
Loading the player ...

कनेक्ट