दुनिया भर में क़रीब साढ़े छह करोड़ लोगों को अपने घर छोड़कर शरणार्थी बनने को मजबूर होना पड़ा है.
24/06/2016 / सुनिए /

विधवाओं को मिलें सम्मान और मौक़े

Widows-Ivorian
हर जगह विधवाओं को तिरस्कार का सामना करना पड़ता है और ना ही उन्हें तरक़्क़ी के मौक़े मिलते हैं.
24/06/2016 / सुनिए /

सिविल सोसायटी को मिले आज़ादी

SG attends SPIEF Opening Ceremony 2016
सिविल सोसायटी पर इतने दबाव पड़ रहे हैं कि इंसानियत और इंसानों के अधिकार ख़तरे में पड़ने लगे हैं.
17/06/2016 / सुनिए /

रोहिंग्या मुसलमानों पर ज़ुल्म रुके

Rohingya_Refugees
म्यामाँर में अल्पसंख्यक रोहिंग्या मुसलमानों पर बड़े पैमाने पर ज़ुल्म होने के मामले सामने आए हैं.
24/06/2016 / सुनिए /

कारोबार में हों इंसानियत के मूल्य

Informal Meeting of the Plenary of the General Assembly.
कारोबारी गतिविधियों में मानवीय मूल्यों का होना टिकाऊ विकास के लिए बहुत ज़रूरी बताया गया है.
24/06/2016 / सुनिए /

कोई भी पीछे ना छूट जाए

Disabled
विकलांगों को समान अधिकार और मौक़े देना अन्तरराष्ट्रीय समुदाय का लक्ष्य है, और क्या करना होगा...
17/06/2016 / सुनिए /

बेसहारों का सहारा बनने की अपील

Crying_child_clipart_310px-inside
दुनिया भर में ऐसे लोगों की मदद करने की अपील जिन्हें किसी भी वजह से बेघर होना पड़ा है.
17/06/2016 / सुनिए /
परिक्रमा 24 जून 2016
परिक्रमा 24 जून 2016
साप्ताहिक समाचार बुलेटिन
Loading the player ...

Fairness for them

डायबटीज़ पर लगाम

कनेक्ट